-17%

कांकरेज Kankrej Gomata Bilona Ghee- 1 Ltr

1,500.00

100% Pure Karnkrej Deshi Cow Ghee at your doorstep.
It could be used for medicinal purposes. There are more than 700 Kankrej Deshi Cows and they are living with nature.

 

बिलोने से बना कांकरेज नस्ल की गोमाता का घृत बच्चो के लिए फैट की पूर्ति जंक और फ़ास्ट फ़ूड से नही शुद्ध गोघृत से करें-

  1. बच्चो की शारीरिक वृद्धि हेतु आवश्यक फैट की पूर्ति करने का सर्वश्रेष्ठ स्त्रोत है
  2. इस घृत को वैदिक विधि के अनुसार बनाया जाता है
  3. पित्त को संतुलित रखने का उत्तम माध्यम
  4. सभी आयु वर्गों के लिए सर्वोत्तम आहार
  5. हवन पूजा आदि में अग्नि में आहुति हेतु सर्वश्रेष्ठ
  6. बच्चो के लिए फैट की पूर्ति जंक और फ़ास्ट फ़ूड से नही शुद्ध गोघृत से करें
  7. रात को यदि नींद नहीं आती तो इसे नाक में डालकर सोयें, बहुत अच्छी नींद आएगी
  8. रात में खर्राटे बहुत आते हैं तो ये गौघृत नाक में डालकर सोयें, 3 से 4 दिन में ये परेशानी ठीक हो जाएगी

11 in stock

Check Availability At

Pincode field should not be empty!

Description

100% Pure Hand made Kankrej Deshi Cow Ghee. Best Ghee for our growing child.

कांकरेज गौमाता का बिलौना घी तैयार करने के लिए, गौमाता के शुद्ध दूध का दही जमाया जाता है फिर, उस दही को उत्तम गुणवत्ता के बर्तन में लकड़ी की मथानी के द्वारा धीमी गति से बिलोकर मक्खन तैयार किया जाता है, फिर उस मक्खन को दूसरे उच्चतम गुणवत्ता के वर्तनों में धीमी आँच पर ऊबालकर ये 100% शुद्ध गोघृत तैयार किया जाता है…

गोघृत एक ऐसा अमृत है जो बच्चे, युवा एवं वृद्ध तीनो के लिए उत्तम औषधि है।

आज गाय के घी के महत्व को जानकर बाजार में विभिन्न प्रकार की ब्रांड आ गयी है। परंतु चमक दमक के अतिरिक्त गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने की क्षमता कुछ ही लोगो मे है।

  • देसी गाय का घी ही क्यों?*

– बच्चो के लिए स्वस्थ जीवन सुनिश्चित कीजिये
बचपन मे शरीर को बढ़ने के लिए फैट (वसा) आवश्यक है और उसकी मांग शरीर कैसे पूरी करें यह माता-पिताओं को निर्धारित करना है। जैसे कोई प्यासा पानी की ओर लपकता है वैसे ही सही फैट जैसे गोघृत, देसी गाय का मक्खन आदि न मिले तो बच्चा बाजार के घटिया फैट (चिप्स, बिस्किट) की ओर जाता है क्योंकि शरीर अपनी फैट की प्यास को किसी न किसी तरह से बुझायेगा। यदि माता पिता उनको सही फैट से वंचित रखते है तो यह आगे चलकर उनके लिए अभिशाप साबित होता है।

– सर्दी ज़ुकाम, खांसी जैसी बीमारियों में यह घी गर्म कर छाती और पीठ पर मालिश करने से तुरंत लाभ मिलता है।
– सामान्य रूप से यदि कोई बीमारी नही है तो नाभि में भी प्रतिदिन यह घी डाल सकते है जिस से नाभि पुष्ट होकर डिगती नही है और नाभि डिगने के कारण होने वाले 40 पित्त के रोग नही होते।

  • तो क्या करें?*

– हॉर्लिक्स, बॉर्नविटा, Health insurance, डॉक्टर, बीमारी, बाहर का खाना आदि पर जो खर्च करते है इतने महंगे imported ओलिव आयल को प्रयोग करते है जो हमारे किसी काम का नही।

– यह सब बंद कर बच्चो को गाय का घी (दूध में फेंटकर, सब्ज़ी में डालकर, घी शक्कर, हलवा, गुलगुले, पराँठा, पूरी आदि बनाकर) खिलाये और उन्हें एक स्वस्थ जीवन देने का आधार रखें।

– यदि संभव हो तो देसी गाय का दूध लेकर उसको बिलोकर मक्खन निकालकर (मलाई एकत्रित करने वाली पद्धति गलत है) उसका घी बनाया और प्रतिदिन खाये। परंतु यदि यह संभव नही  हमारे द्वारा तैयार इसकी व्यवस्था करें। जिस से गोपालकों की जीविका चले औऱ गाय पुनः घरों में बंधे।

अतः हम किसी भी स्थित में इसकी गुणवत्ता के साथ समझौता नही करते।

यह घृत पूर्णतः वैदिक पद्धति के अनुसार बन रहा है। गर्भवती महिलाएं सामान्य प्रसव के लिए, पित्त के रोगी, हृदयरोग के  लिए, बच्चो की मालिश, उनके मस्तिष्क और शरीर के विकास एवं संतुलित कफ वाले बच्चो के निर्माण में यह  घृत वरदान है।

आज ही आर्डर करें www.shuddhikrit.com से
पूरे देश मे डिलीवरी उपलब्ध।

 

Additional information

Weight 1600 g
Dimensions 16 × 14 × 22 cm

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “कांकरेज Kankrej Gomata Bilona Ghee- 1 Ltr”

Your email address will not be published. Required fields are marked *